इन शर्तों के साथ फिर से खुल सकेंगे मुंबई के डांस बार।

डांस बार मामले में सुप्रीम कोर्ट ने अपना अहम फैसला सुनाया। फैसले के मुताबिक मुंबई में कुछ शर्तो के साथ डांस बार खुल सकेंगे। कोर्ट का कहना है की डांसर पर पैसे उछाले नहीं जा सकते लेकिन अलग से टिप दे सकते है। इससे पहले 30 अगस्त 2018 को सभी पक्षों की दलीलें सुनने के बाद देश की उच्चतम न्यायलय ने अपना फैसला सुरक्षित रखा था।
स्कूल और धार्मिक स्थान से 1 km की दूरी की शर्त को कहा अतार्किक लेकिन तर्कसंगत दूरी रहेगी। कोर्ट ने अश्लील डांस की परिभाषा बरकरार रखी। कोर्ट ने बार डांसिग एरिया अलग रखने और साथ ही सीसीटीवी कैमरों रखने की शर्त को खारिज कर दिया है।

सुप्रीम कोर्ट की शर्तें जिनसे डांस बार फिरसे खुल सकते है ।
* कोर्ट ने अपने फैसले में कहा है कि डांसर को टिप दी जा सकती है, लेकिन उन पर पैसे नहीं फेंके जा सकते।
* कोर्ट ने बार डांसिग एरिया अलग रखने की शर्त खारिज कर दी है।
* स्कूल और धार्मिक स्थान से एक किलोमीटर की दूरी की शर्त पर कहा अतार्किक लेकिन तर्कसंगत दूरी रहेगी।
* कोर्ट ने अश्लील डांस की परिभाषा बरकरार रखी है।
* डांस बार में शराब पर कोई प्रतिबंध नहीं।
* मुंबई के डांस बार में सीसीटीवी कैमरों रखने की शर्त को खारिज किया , क्योंकि ये लोगों की निजता यानी प्राइवेसी का उल्लंघन करते हैं।
* डांस बार में आर्केस्ट्रा (Orchestra) पर कोई रोक नहीं।
* डांस बार में एरिया और ग्राहकों के बीच दीवार नहीं होगी। सरकार ने नियम तय किया था कि ग्राहक और डांसरों के बीच एक 3 फुट ऊंची दीवार बनाई जाए, जिससे डांस तो देखा जा सके, मगर डांसर तक पहुंचा न जा सके।
*सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद मुंबई में डांस बार शाम 6 से 11.30 तक खुल सकेंगे।
* कोर्ट ने कहा कि डांस बार पर पूरी तरह से प्रतिबंध नहीं लगाया जा सकता है, हां कुछ पाबंदियां जरूर लगाई जा सकती हैं
* डांस बार में अश्लीलता नहीं होनी चाहिए।

Related posts

Leave a Comment