धर्मशाला में कारोबार में प्राण फूंकने के लिए रियायत दे रहे हैं होटल

हिमाचल प्रदेश के इस प्रसिद्ध पर्वतीय स्थल के होटल कारोबारी उच्च न्यायलय के आदेश की वजह से बुरी तरह से प्रभावित कारोबार में प्राण फूंकने के लिए दिवाली के त्यौहारी मौसम में अपने शुल्कों को कटौती कर और विशेष छूट के जरिए सैलानियों को आकर्षित करने की कोशिश कर रहे हैं। इस साल धर्मशाला में पर्यटकों की आमद करीब 70 फीसदी कम हुई है, क्योंकि हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय ने धर्मशाला नगर के आसपास अवैध तरीके से बने तकरीबन 80 होटलों और गेस्ट हाउजों को बंद करने का आदेश दिया था। अदालत ने उनका पानी और बिजली का कनेक्शन भी कटवा दिया था। मैकलॉडगंज होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष अश्विनी बंबा ने कहा कि फिलहाल इलाके में 100 होटल काम कर रहे हैं और अदालत के आदेश के बाद सैलानी ऑनलाइन होटलों में बुकिंग करने से बच रहे हैं जिससे कारोबारी काफी प्रभावित हुए हैं। होटल एसोसिएशन के सर्वेक्षण का हवाला देते हुए उन्होंने बताया कि पिछले साल की तुलना में इस साल दशहरे पर मैकलॉडगंज में पर्यटन कारोबार केवल 25-30 फीसदी था।बंबा ने कहा कि होटल कारोबारियों को अपनी रोज़ी-रोटी के लिए दिवाली के त्यौहारी में छूठ दी आ रही है । इसलिए उन्होंने एक से 10 नवंबर के बीच बुकिंग पर 30 फीसदी छूट देने का फैसला किया है।

Related posts

Leave a Comment