मुंबई – सीनियर सेल्स एग्जिक्युटिव को किया गिरफ्तार

मुंबई की सहार पुलिस ने एक सीनियर सेल्स एग्जिक्युटिव को 29 वर्षीय महिला वकील के साथ बैंकॉक-मुंबई थाई एयरवेज फ्लाइट में छेड़खानी के आरोप में गिरफ्तार कर लिया। छेड़खानी के मामले में आरोपी चंद्रहास त्रिपाठी, मध्य प्रदेश के इंदौर के रहने वाले हैं और वह बिजनस इंसेंटिव टूर पर थाइलैंड गए थे। वह एक बुक पब्लिशिंग कंपनी में बतौर सीनियर एग्जिक्युटिव के पद पर कार्यरत हैं।
एमबीए प्रफेशनल आरोपी की पहचान चंद्रहास त्रिपाठी के रूप में हुई है। आरोप है कि, बैंकॉक के डॉन म्युएंग इंटरनैशनल एयरपोर्ट से विमान ने उड़ान भरी थी। पीड़िता का कहना है कि, आरोपी ने लाइट बंद होने के बादउन्हें गलत तरीके से छुआ। इस पूरे मामले में त्रिपाठी को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। पुलिस एयरलाइन का बयान भी दर्ज करेगी।
मुंबई के सीएसआईए में तकरीबन 6 बजकर 15 मिनट पर फ्लाइट लैंड होने के बाद सेंट्रल इंडस्ट्रियल सिक्यॉरिटी फोर्स (सीआईएसएफ) ने आरोपी चंद्रहास त्रिपाठी को हिरासत में ले लिया। सहार पुलिस स्टेशन के एक पुलिस अधिकारी का कहना है, ‘सीआईएसएफ के अधिकारियों ने पीड़िता की मदद करते हुए आगे की जांच के मद्देनजर संदिग्ध को हमारे हवाले किया। त्रिपाठी को शायद मध्य प्रदेश के लिए मुंबई से फ्लाइट बदलनी थी लेकिन हमने उसे पीड़िता की शिकायत के आधार पर गिरफ्तार कर लिया। त्रिपाठी ने महिला की उंगलियों को छुआ ताकि यह पता चल सके कि वह सो रही है या नहीं, इसके बाद उसने गलत तरीके से महिला को छुआ।’
शिकायत में पीड़िता ने कहा है, ‘मुझे ऐसा महसूस हुआ कि विमान द्वारा उड़ान भरने के बाद किसी ने मुझे छुआ। हालांकि, मैंने यह सोचकर नजरंदाज कर दिया कि मेरे बगल में बैठे शख्स ने शायद ऐसा जानबूझकर नहीं किया। बाद में मैंने अपनी जांघ पर दबाव सा महसूस किया और इसके बाद मुझे पता चला कि आरोपी यह सोचकर कि मैं सो रही हूं, वह ऐसा कर रहा है। आरोपी बीच की सीट में बैठा हुआ था।’ इसके बाद पीड़िता ने तुरंत फ्लाइट के कर्मचारियों को इस बात की जानकारी दी। एयरलाइन क्रू ने सीआईएसएफ अधिकारियों को बुलाया और त्रिपाठी को हिरासत में ले लिया गया। उन्होंने हमें इस मामले की जांच की जिम्मेदारी सौंप दी है।’ त्रिपाठी का कहना है कि वह निर्दोष हैं और उन्होंने जानबूझकर अपनी साथी यात्री को नहीं छुआ है। चंद्रहास पर आईपीसी की धारा 354 के तहत मामला दर्ज किया गया है। उन्हें अंधेरी मेट्रोपॉलिटन मैजिस्ट्रेट कोर्ट में पेश किया गया, इसके बाद उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

Related posts

Leave a Comment