०८-मार्च : अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस, भारती महिला।

जब बात शक्ति और बुद्धि की आती है तो सब आदमियों की तरफ अपनी नज़रें पलट देते है। लेकिन वही कुछ महिलायें भी है जिन्होने ये साबित किया है की हर चीज़ सिर्फ मर्द ही नहीं कर सकते। अगर हिम्मत और लगन हो तो महिलायें भी मर्दो से पीछे नहीं। आज यानी ०८-मार्च को हर साल अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाता है। यह महिलाओं के अधिकारों के लिए आंदोलन का केंद्र बिंदु है।
२८ फरवरी, १९०९ को न्यूयॉर्क में सोशलिस्ट पार्टी ऑफ़ अमेरिका द्वारा एक महिला दिवस का आयोजन करने के बाद १९१० के अंतर्राष्ट्रीय समाजवादी महिला सम्मेलन ने एक महिला दिवस प्रतिवर्ष आयोजित करने का सुझाव दिया। १९१७ में महिलाओं द्वारा सोवियत रूस में मताधिकार हासिल करने के बाद,८ मार्च को वहां राष्ट्रीय अवकाश हो गया। यह दिन मुख्य रूप से समाजवादी आंदोलन और साम्यवादी देशों द्वारा मनाया गया जब तक कि इसे १९७५ में संयुक्त राष्ट्र द्वारा अपनाया नहीं गया।

भारत में विभिन्न क्षेत्रों में महिलाओं की सूची

रीता फारिया: १९९६ में भारत और साथ ही एशिया में पहली बार मिस वर्ल्ड बनी।
सुष्मिता सेन: १९९४ में मिस यूनिवर्स।
भानु अथैया: १९८२ में पोशाक डिजाइन के लिए ऑस्कर पुरस्कार विजेता।
कल्पना चावला: एक अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री, इंजीनियर, और अंतरिक्ष में जाने वाली भारतीय मूल की पहली महिला थीं
गौहर जान: १९०२ पहले भारतीय गायक।
भाग्यश्री थिप्से : १९८६ पहली महिला शतरंज ग्रैंडमास्टर
किरण बेदी : आईपीएस अधिकारी और साथ ही संयुक्त राष्ट्र के सिविल पुलिस सलाहकार के रूप में नियुक्त पहली महिला।
राजकुमारी अमृत कौर : भारत में कैबिनेट मंत्री।
विजया लक्ष्मी पंडित : भारत में मंत्री।
सुचेता कृपलानी उत्तर प्रदेश : मुख्यमंत्री।
सरोजिनी नायडू : राज्यपाल (उत्तर प्रदेश की राज्यपाल १९४७-४९ ।
सबिता इंद्रा रेड्डी : एक राज्य के गृह मंत्री(आंध्र प्रदेश)।
डॉ.उपिंदरजीत कौर : भारत सरकार के वित्त मंत्री (पंजाब सरकार में)।
कंचन चौधरी भट्टाचार्य : पुलिस महानिदेशक।
ममता बनर्जी : भारत के रेल मंत्री।
बेनो जेफिन एन एल : पूरी तरह से अंधे IFS अधिकारी।
सी.बी.मुथम्मा।: IFS में शामिल होने के लिए, एक राजनयिक होने के लिए, राजदूत / उच्चायुक्त बनने के लिए (लिंगभेद के लिए भारत सरकार पर मुकदमा)
यामिन हजारिका : IPS अधिकारी(असम)।
अपराजिता राय : IPS अधिकारी(सिक्किम)।
मीरा बोरवंकर : IPS अधिकारी(महाराष्ट्र)।
एनी बेसेंट : भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस अध्यक्ष।
प्रतिभा पाटिल : २००७ भारत के राष्ट्रपति।
इंदिरा गांधी: १९६६ भारत के प्रधान मंत्री।
मीरा कुमार : लोकसभा अध्यक्ष।
मार्गरेट अल्वा : राज्यसभा के उप सभापति।
वी.एस.रामादेवी : राज्य सभा के महासचिव।
स्नेहलता श्रीवास्तव: लोकसभा के महासचिव।
अवनी चतुर्वेदी: २०१८ एक लड़ाकू विमान एकल को उड़ाने वाली पहली भारतीय महिला हैं(MIG-21 Bison Aircraft)।
मिताली राज: इंडियाज मोस्ट प्रोलिफिक टी -२० रन-स्कोरर।
मैरी कॉम(Nickname: Magnificent Mary) : वह छह बार रिकॉर्ड के लिए विश्व एमेच्योर मुक्केबाजी चैंपियन बनने वाली एकमात्र महिला हैं, और सात विश्व चैंपियनशिप में से प्रत्येक में पदक जीतने वाली एकमात्र महिला मुक्केबाज हैं।
गीता गोपीनाथ: आईएमएफ के मुख्य अर्थशास्त्री
रितु करिदल, नंदिनी हरिनाथ, अनुराधा टी.के : तीनो महिलाओं ने मंगल पर भारत की मदद की थी।
निरुपमा संजीव: आधुनिक युग में एक मुख्य ड्रॉ ग्रैंड स्लैम में गोल करने और जीतने वाली वह पहली भारतीय महिला बनीं। संजीव शीर्ष २०० विश्व एकल रैंकिंग में प्रवेश करने वाली पहली भारतीय महिला थीं।
एल.टी हरिता कौर देओल: १९९४ वह उस समय भारतीय वायु सेना में एकल उड़ान भरने वाली पहली महिला पायलट थीं, जब वह २२ वर्ष की थीं।
ईशा बसंत जोशी : स्वतंत्र भारत की पहली महिला भारतीय प्रशासनिक सेवा अधिकारी।
बछेंद्री पाल: १९८४ में पहली भारतीय महिला जो माउंट एवरेस्ट की चोटी पर पहुंचीं।
सरिता : दिल्ली परिवहन निगम में बस चालक।
कार्नेलिया सोराबजी : बॉम्बे विश्वविद्यालय से पहली महिला स्नातक और ऑक्सफोर्ड में कानून पढ़ने वाली दुनिया की पहली महिला।
मुस्कान सेठी : २०१५ भारत की पहली महिला पेशेवर पोकर खिलाड़ी।

जैसा कि आप अभी पूरी सूची पढ़ रहे थे, हम सिर्फ भारत के महिलाओ के बारे में बात कर रहे थे। दुनिया में और भी महिलायें जिन्हो मर्दो से ज़्यादा हासिल कर दिखाया है। यदि हम देखते हैं कि वहाँ कोई पेशा या जगह नहीं है जहाँ महिलाएँ काम नहीं कर रही हैं और साथ ही उन्हें अच्छे परिणाम के साथ हासिल भी कर रही है । विश्व में सभी महिलाओं को हमारे चैनल की ओर से अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर शुभकामनाएं।

Related posts

Leave a Comment